Friday, 14 August 2015

Happy Independence Day

🇮🇳माँ तुझे सलाम!🇮🇳
है जिसके प्रताप की साक्षी माँ गंगा
देते जिसकी करुणा का प्रमाण ये तारागण
ऐसा है भारत देश हमारा
करती जिसपर मैं सर्वस्व अर्पण !

अरे ओ आध्यात्मिकता के शिखर
ऋषि-मुनियों के तप की पवित्र डगर!
नैतिकता चूमती तेरा अंबर
है तेरी शान में गर्वोन्नत मेरा सर!

है हिम-किरीट तेरा मुकुट
और तन है सपाट मैदान
पवित्र नदियों के उद्गम स्थान 
करती मैं तेरा अथक सम्मान! 

है तेरी वायु में इतना अपनापन
की परदेसिओं का भी खिल जाता मन
है तेरी मिट्टी में ये कैसी शक्ति
जो आश्रित है तुझपर सैंकड़ों वनस्पति ?

तू थी ऐश्वर्य की प्रतिमा
'सोने की चिड़िया' उपाधि थी तेरी गरिमा!
बाहरी लुटेरों ने तुझे भरसक लूटा है,
मैं जानती हूँ तेरा मनोबल टूटा है!

तेरा आशीष मिले तो हम संगठन से आगे बढ़ेंगे 
प्रतिबद्धता और दृढ़ता के दम पर 
हर रण से जीतकर लौटेंगे!
तेरे हर रत्न को हम पुन: भर ले आएँगे,
जन्मे हैं हम तेरी अंक में ये सबको दिखलाएँगे!

-ऋचा गुप्ता 














No comments:

Post a Comment